garamnews.com
Mikrowsoft

क्योकि हर बात के लिए वही तो जवाबदेह हैं


एक धांसू आईडिया मन में आया है. सोचता हूँ मोदीजी को ट्वीट कर दूँ.”

“सीधा मोदीजी को?”

“क्योकि हर बात के लिए वही तो जवाबदेह हैं.”

अब आपलोग सोच रहे होगे कि “क्या सोचा है?”

“विपक्ष के सारे लोग बालाकोट में मरे हुए आतंकवादियों की संख्या पूछ रहे हैं तो क्यों न वायुसेना में एक पद बनाया जाये. नये अधिकारी की ड्यूटी होगी कि हर हमले के बाद वह मरे ही आतंकियों की लाशें गिनेगा, उनका नाम, पता, फ़ोन नम्बर की जानकारी लेगा, उनके फोटो पहचान पत्र की कापी हासिल करेगा और अगर उन लाशों का पोस्टमॉर्टेम होता है तो रिपोर्ट की कापी प्राप्त करने का प्रयास करेगा.”

“आप लोग लग रहा है की मै मज़ाक कर रहा हु..”

“आप जानते नहीं, लेकिन एक समय वायु सेना में रैट-कैचर का पद भी हुआ करता था. रैट-कैचर, चूहा पकड़ने वाला…..अब बताइये अगर रैट-कैचर हो सकता है तो डेड-बॉडी-काउंटर क्यों नहीं हो सकता.”

यह आतंकवादी भी तो चूहों की तरह बिलों में घुसे रहते हैं. हाँ, वह चूहे ही हैं. तो बस रैट-कैचर के पद को फिर से पुनर्जीवित कर देना चाहिए. लेकिन उसकी ड्यूटी होगी मरे हुए चूहों की लाशें गिनना.”

अब विपक्ष लाशों की संख्या पूछ रहा है तो उनकी बात को नकारा तो नहीं जा सकता.”

“बस, मैंने निश्चय कर लिया है. पूरे कैडर का प्रस्ताव बना कर पीएम्ओ भेजूंगा. यह बहुत ही गंभीर समस्या है और तुरंत कुछ करना होगा.”

भारत सरकार को भी जानता हूँ. विपक्ष के हमले देखते हुए ऐसी पूरी सम्भावना है कि लाश गिनने वालों का कैडर एक दिन बन ही जाए.

Leave a Reply

comment-avatar

*

Post Comment